Maa Kali ने आपको चुना है अगर ये परीक्षा आपकी हो रही है | Maa Ka Ashirwad - Rice Purity Test

Maa Kali ने आपको चुना है अगर ये परीक्षा आपकी हो रही है | Maa Ka Ashirwad

नमस्कार दोस्तों आप सभी पर मां का आशीर्वाद और बजरंगबली की कृपा सदैव बनी रहे जब ईश्वर की किसी भी स्वरूप से हम जुड़ते हैं उसकी तरफ हमें खिंचाव महसूस होता है तो यह हमारे स्वयं के चाहने से नहीं होता

शक्ति हमें अपनी तरफ खींचती है अपनी तरफ आकर्षित करती है मां काली की भक्ति सौभाग्य बस जब हमें प्राप्त होती है तो यह मन की ही अनुकंपा होती है कि हमें उनकी तरफ आकर्षण महसूस होता है अधिक से

अधिक मां का ध्यान करने का उनके नाम जप करने का एक भाव मन में पैदा होता है और लगता है की मां के नाम के बिना हर चीज अधूरी है और सर्वोच्च पराशक्ति मां काली की भक्ति जब एक भक्तों को प्राप्त होती है तो

कई परीक्षाओं से भी उसे गुजरना पड़ता है और कई बार यह परीक्षाएं बहुत ज्यादा चुनौती पूर्ण होती है और हर परीक्षा के साथ कई पाप कर्म हमारे संचित कर्म हो जाते हैं नष्ट हो जाते हैं और मां अपने भक्तों को वैसे ही

दिखती हैं उन्हें वैसे ही दोष मुक्त और विकार मुक्त करती है जैसे अग्नि में तप कर स्वर्ण बाहर निकलता है तोआज हम बात करेंगे ऐसी कुछ परीक्षाओं की जो मां अपने भक्तों की आवश्यक लेती है और जिसमें सबसे पहली

परीक्षा है कि नेगेटिव एनर्जी का अटैक बहुत ज्यादा जीवन में होने लगता है और किसी भी रूप में होता है जीवन बहुत ज्यादा तनावपूर्ण हो जाता है इस प्रकार से नेगेटिव एनर्जी की अटैक होते हैं की नित्य पूजा में वैज्ञानिक

लगते हैं इस प्रकार की स्थिति बनती है कि सपोज आपने कोई संकल्प उठाया पूजा में लेकिन उसे पूर्ण करना आपको असंभव प्रतीत होता है लगता है कि हम इस संकल्प को पूरा नहीं कर पाएंगे शारीरिक कष्ट बढ़ जाते हैं

और ऐसा लगता है की पूजा में हम नहीं बैठ पाएंगे क्योंकि शरीर में पीड़ा होती है या फिर घर का वातावरण तनाव पूर्ण हो जाता है नकारात्मकता बहुत तीव्र हो जाती है तो हमेशा याद रखें कि आपकी परीक्षा का समय है और

इस समय नित्य पूजा पाठ आपको छोड़ना नहीं है बल्कि पूरी दृढ़ता के साथ मां के मित्रों का जब आपको करते रहना है जो भी है नियम से कर रहे हैं उन्हें आपको करते रहना है क्योंकि यह समय आपका गुजर जाएगा

जितने भी आपके पाप करने हैं संचित करने हैं वह नष्ट हो रहे हैं और आपकी ऊर्जा निखार रही है तीव्र हो रही है और मां की निरंतर भक्ति से यह जो नकारात्मक ऊर्जा है इसका प्रभाव धीरे-धीरे कम होने लगता है और अंत में समाप्त हो जाता है