राजस्थान के एक गांव में इच्छाधारी नागिन ने दिया एक बच्चे को जन्म परन्तु गांव वालों ने कर दी यह गलती - Rice Purity Test

राजस्थान के एक गांव में इच्छाधारी नागिन ने दिया एक बच्चे को जन्म परन्तु गांव वालों ने कर दी यह गलती

राधे राधे जय बागेश्वर धाम सरकार दोस्तों हमने नाग नागिन के कई किस्से कहानियां सुनी हैं और बड़े बुजुर्गों से भी सुना है जिसमें जरूर होता है दरअसल दोस्तों नागमणि इच्छाधारी नाग नागिन के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है

क्योंकि इस नाग से उन्हें कई शक्तियां प्राप्त होती हैं इससे वह किसी का भी रूप धारण कर सकती है कोई भी भारी वस्तु उठा सकती है और किसी की भी जान ले सकती है ऐसे में दोस्तों जरा सोचिए कि इस नागमणि में

कितनी शक्तियां होगी और अगर यह किसी इंसान के हाथ लग जाए तो वह इंसान बहुत शक्तिशाली हो जाता है जिससे वह जो चाहे वह कर सकता है लेकिन दोस्तों नागमणि को साधारण इंसान हासिल नहीं कर सकता यह

केवल इच्छाधारी नाग नागिन को कठिन तपस्या के बाद महादेव से प्राप्त होती है क्योंकि नाग नागिन महादेव शिव को ही अपना आराध्य मानते हैं और उनके हजारों वर्षों की कठिन तपस्या से भगवान शिव खुश होकर उन्हें नागमणि देते हैं जिन्हें इच्छाधारी नाग नागिन को संभाल कर रखना होता है इसी के साथ सच्ची श्रद्धा से कमेंट में जरूर लिखें हर हर महादेव राधे राधे लेकिन दोस्तों अगर कोई नागमणि चालाकी से चुरा ले तो उसे व्यक्ति के

साथ क्या होगा लिए जानते हैं आज की इस वीडियो में क्यों की दोस्तों तब क्या हुआ होगा जब इच्छाधारी नागिन ने दिया एक बच्चे को जन्म और व्यक्ति की एक गलती के कारण इच्छाधारी नागिन ने उसके साथ जो किया है

सुनकर लोगों के होश उड़ गए हुए कहानी को शुरू करते हैं और सुनते हैं गुरुजी से कि वह क्या कहते हैं इसके बारे में दोस्तों यह चमत्कारी घटना है राजस्थान के एक छोटे से गांव चंदेल गांव की दरअसल यह घटना घटित हुई चंदेल गांव के मुखिया और वहां के सबसे धनी इंसान मनोहर जी के साथ मनोहर करीब आज से 5 साल पहले एक साधारण एवं गरीब का जीवन व्यतीत करते आ रहे थे वह अक्सर जंगल में अपनी बकरियां चराने जाया

करते थे एक दिन बकरी चलते चलते वह जंगल के थोड़ा और अंदर निकल गई इस जंगल में एक इच्छाधारी नागिन अपने नाक के साथ एक विशाल पेड़ के पास रहा करती थी वह नागिन गर्भवती थी मनोहर जब उसे पेड़ के पास से तो उसे वहां एक तेज चमकती चीज दिखाई दी परंतु साथ ही वह दोनों नाग नागिन भी वही थे उन्हें देख वह थोड़ा सा डर गया और तुरंत ही वहां से जल्दी से घर की और भाग मनोहर इतना घबराया हुआ था कि उसे समय तो उसने पीछे मुड़ टक्कर नहीं देखा परंतु उसे रात उसके ध्यान में वह चीज जो चमक रही थी वह बार बार आ रही थी