माता लक्ष्मी की तीन बातें गांठ में बांध लेना रंक से राजा बन जाओगे!| बहुत कीमती बातें - Rice Purity Test

माता लक्ष्मी की तीन बातें गांठ में बांध लेना रंक से राजा बन जाओगे!| बहुत कीमती बातें

अधिक मेहनत करने के बाद में फल काम क्यों मिलता है स्वागत है आप सभी का गोपेश ज्ञान युटुब चैनल में कभी कभी देखने में आता है कि मनुष्य अधिक परिश्रम करने के बाद भी बहुत कम फल पता है मेहनत करने के

बाद भी ऐसा क्यों होता है और समझते हैं यह कहानी आपसे निवेदन है माता लक्ष्मी और दरिद्रता देवी आपस में बातचीत कर रही थी माता लक्ष्मी से कहा बहुत दिनों से मेरे मन में एक बात का सन से बना हुआ है मैं सोच

रही हूं कि यह बात आपसे पूछ लो माता लक्ष्मी रहती है है बहन पूछो ऐसी किस बात को लेकर तुम दुविधा में हो तेरी बोली हम दोनों बहने सुंदरता में तो बराबर है क्यों देते हैं और मेरी देखो जाता है प्रसन्नता लुप्त हो जाती है मुझे सामना करना पड़ता है जबकि हम दोनों सगी बहनें हैं माता लक्ष्मी रहती है आदर्श सम्मान का मतलब सुंदर लगने से नहीं है पानी के लिए मनुष्य को श्रेष्ठ कर्म करके दिखाने पड़ते हैं संसार में आदमी को कोई नहीं

पूछता यदि हम लोगों के हित के लिए काम करेंगे तू निश्चित रूप से लोग हमें आदर्श देखने लगेंगे क्योंकि मैं जब लोगों के घर में जाती हूं तो मैं उन्हें सुख के साधन देती है जब आप लोगों के लिए इतनी खुशियां दोगी भी आपकी पूजा करने लगेंगे कि तुम जब किसी के घर में पर रखती हो तो लोग गरीब हो जाते हैं उनका जीवन इसलिए लोग तुमसे घड़ा करते हैं तो लोगों के सुख के लिए कम करो लक्ष्मी जी की यह बात दरिद्रता को बहुत बुरी

लगी अधिक सम्मान देकर लोगों ने उसे गर्भ से भर दिया है कर रही हो दरिद्रता बहन के लिए कांटे की तरह चुप रही थी तू किस बात में मुझसे बड़ी है शक्ति में और ना सुंदरता में यदि तुम्हें अपनी संपदा पर ज्यादा ही अभिमान है तो चलो हम अपनी अपनी शक्ति का प्रदर्शन करके देख लेते हैं कि मैं जिसे चाहे उसे करोड़पति बन सकती हूं आपके करोड़पति भक्तों को भी कंगाल बना सकती हूं माता लक्ष्मी हॉस्पिटल तुम चाहे कुछ भी कर

लो कुछ काम तुम जिसे कंगाल बनोगी उसे रंग से राजा बना दूंगी तुम्हें भी मेरी महिमा के बारे में पता नहीं है जिसे तुम राजा बनोगे मात्रा में दाने दाने के लिए मोहताज कर दूंगी जिसे चाहो उसे कंगाल बना सकती हो उसका तुम कुछ भी नहीं कर सकती अगर तुम्हें अपनी शक्ति पर ज्यादा ही अभिमान है तो कल तुम अपना धर्म मिटा लो दोनों के बीच स्पर्ड कुशीनगर के एक ब्राह्मण के घर पहुंची मंदिर में जाता था लक्ष्मी का बड़ा भक्त था मेरा

प्रभाव देखने माता लक्ष्मी के क्रोध को देखकर उसके अहंकार को देखकर खड़ी खड़ी मुस्कुराती रही इस मंदिर में पहुंच गई जिसमें ब्राह्मण पूजा पाठ करने जाता था साधारण स्त्रियों की तरह बेस बनाकर मंदिर के द्वार पर जा बैठी चंद्रपुर पूजा करने वाले श्रद्धालु आने जाने लगे किसी पर ध्यान नहीं था यह तो आप जानते ही है कि मंदिर में दिन दुखी लोग तो अक्सर आते ही रहते हैं जिसका उन्हें इंतजार था ब्राह्मण ने मंदिर में पूजा पाठ किया अब तुम अपना चमत्कार दिखाओ माता लक्ष्मी ने इस समय एक मोटा सा भाषण सोने की मोहरी भरी हुई थी के पास मोहर्रम से भरा हुआ है लेकर रास्ते में उसे यह बात तो बड़ा ही काम का है ब्राह्मण से बस में कौन सा बाजार से लाया हूं लड़के को एक रुपए में भेज दिया