महिलाओं को नीचे के बाल काटने चाहिए या नहीं ? - Rice Purity Test

महिलाओं को नीचे के बाल काटने चाहिए या नहीं ?

नीचे के बाल काटने वाली औरतें यह वीडियो जरूर देखें क्योंकि आज की वीडियो में हम बताने वाले हैं कि जो महिलाएं अपने शरीर के कुछ खास हिस्सों के बाल काट लेती हैं तो इसका परिणाम उन्हें क्या भावना होता है तो

क्या आप ही एक महिला है और आपके भी शरीर पर अलग अलग हिस्सों में जरूर से ज्यादा बाल आते हैं और क्या आप अनचाहे बालों से हमेशा परेशान रहती हैं और यह सोचती है कि आखिर इन बालों को काटना चाहिए

या फिर नहीं और बालों को काटने के लिए कौन सा दिन सही रहेगा दोस्तों आपको बता दें कि महिलाओं के सिर के बालों के साथ उनके शरीर के कुछ हिस्सों पर बालों का होना उनके भाग्य का संकेत देता है और जाने अनजाने में महिलाएं अगर इन बालों को काट लेती है तो उनका भाग भी हमेशा के लिए उनसे रूठ जाता है तो ऐसे में अगर आप भी जानना चाहती हैं कि क्या कहते हैं हमारे बागेश्वर धाम सरकार दोस्तों स्वागत है आपका

सीताराम टीवी पर आगे बढ़ने से पहले वीडियो को लाइक और चैनल को सब्सक्राइब जरूर कर दें जिससे कि श्री बागेश्वर बालाजी की कृपा आप पर सदैव बनी रहे चलिए वीडियो में आगे बढ़ते हैं दोस्तों हिंदू धर्म में महिलाओं को दूसरों का स्वरूप माना जाता है और महिलाओं के केस माता लक्ष्मी के प्रतीक माने जाते हैं कहा जाता है कि जिन महिलाओं के कैसे लंबे और घने होते हैं ऐसी महिलाएं बेहद ही शुभ होती है और यह अपने घर

में सुख समृद्धि और संपत्ति लेकर आती हैं इस तरह महिलाओं के शरीर के कुछ खास अंग भी कई तरह के संकेत देते हैं जैसे कि जिन महिलाओं की आंखें बड़ी बड़ी और चमकीली होती है ऐसी महिलाओं की किस्मत में

राजयोग होता है यह महिलाएं सब प्रकार के सिक्कों को प्राप्त करती है और कुछ हल जिंदगी जीती है महिलाओं के बालों को धोने और उनके काटने से जुड़े हुए कई नियम और कार्य बताए जाते हैं कहा जाता है कि अगर महिलाएं अपनी मर्जी से किसी भी दिन अपने बालों को लेती है या काट लेती है तो इसका विपरीत प्रभाव उनके जीवन पर दिखाई देता है वही यह भी कहा जाता है कि सर के अलावा महिलाओं के शरीर के कुछ ऐसे होते हैं

जहां पर बालों का होना महिलाओं के सौभाग्य की निशानी माना जाता है और अगर महिलाओं के बालों को काट लेती है तो उनका सौभाग्य अपने आप दुर्भाग्य में बदलने लगता है समुद्र शास्त्र के अनुसार हमारे गुरुजी कहते हैं कि महिलाओं को पूर्णिमा एकादशी और अमावस्या वाले दिन अपने बाल धोने और काटने से बचना चाहिए वही अपने बाल धोने के लिए महिलाओं को मंगलवार शनिवार और गुरुवार का दिन भी नहीं चुनना चाहिए क्योंकि

इन दोनों अगर महिलाएं बाल धोती है तो यह उनके जीवन पर और उनके स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव दिखाता है इसी तरह से आजकल ब्यूटी पार्लर में जाने के चक्कर में महिलाएं न किसी दिन का ख्याल रखती है और ना ही किसी वार का और ऐसी गलतियां कर देती है जो उनके जीवन में कई तरह की मूर्ति ले जाती है जैसे कि आपने देखा होगा कि कई महिलाओं की दोनों भाई आपस में चिपकी हुई रहती है जैसे की अभिनेत्री काजोल की बहन आपस में जुड़ी हुई है और आपको जानकारी हैरानी होगी की अभिनेत्री होने के बाद भी उन्होंने कभी अपनी जुड़ी हुई बहू को अलग नहीं करवाया है क्योंकि जिन महिलाओं की बहन आपस में जुड़ी हुई होती है ऐसी महिलाएं अपने जीवन में बहुत तरक्की करती हैं अपने पति की प्यारी बनकर रहती हैं और ऐसी महिलाओं के जीवन में धन दौलत ऐश्वर्या और मान सम्मान की कभी भी कमी नहीं आई वहीं कुछ महिलाएं फैशन के चक्कर में इन्हें को करवा लेती है